Raat Kuchh Aur Thi Lyrics From Jo Bole So Nihaal [English Translation]

Raat Kuchh Aur Thi Lyrics: This Hindi song is sung by Sunidhi Chauhan from the Bollywood movie ‘Jo Bole So Nihaal’. The song lyrics was written by Dev Kohli and music is composed by Anand Raj Anand. This film is directed by Rahul Rawail. It was released in 2005 on behalf of T-Series.The Music Video Features Sunny DeolArtist: Sunidhi ChauhanLyrics: Dev KohliComposed: Anand Raj AnandMovie/Album: Jo Bole So NihaalLength: 1:00Released: 2005Label: T-Series

Raat Kuchh Aur Thi Lyrics

रात कुछ और थी सबेरा कुछ और
सब कुछ लुट के ले गया एक चोर
रात कुछ और थी सबेरा कुछ और
सब कुछ लुट के ले गया एक चोर
हाय रामा क्यों मैंने उठने में देर की
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
रात कुछ और थी सबेरा कुछ और
सब कुछ लुट के ले गया एक चोर
हाय रामा क्यों
हाय रामा क्यों मैंने उठने में देर की
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दीउसको समझी थी मैं साधु
साधु कर गया काला जादू
उसको समझी थी मैं साधु
साधु कर गया काला जादू
जादू सर पे छड्के बोलै
हाय हाय मन मेरा ये डोला
जादू सर पे छड्के बोलै
हाय हाय मन मेरा ये डोला
रात चांदनी थी मुझे चढ़ गया जोर
रात चांदनी थी मुझे चढ़ गया जोर
हुआ जो सबेरा मेरे उड़ गए होश
हाय रामा क्यों मैंने उठने में देर की
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दीउसने नज़रो से कुछ बोला
मेरे दिल में उठे शोले
उसने नज़रो से कुछ बोला
मेरे दिल में उठे शोले
ऐसी आग लगी फिर मीठी
जैसे सुलगि हो अँगीठी
ऐसी आग लगी फिर मीठी
जैसे सुलगि हो अँगीठी
राति मैनु कहंदा सी
तू लगदी ऑय हूर
राति मैनु कहंदा सी
तू लगदी ऑय हूर
हुआ जो सबेरा मेरा तूट गुरुर
हाय रामा क्यों मैंने उठने में देर की
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
रात कुछ और थी सबेरा कुछ और
सब कुछ लुट के ले गया एक चोर
हाय रामा क्यों
हाय रामा क्यों मैंने उठने में देर की
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी

Raat Kuchh Aur Thi Lyrics English Translation

रात कुछ और थी सबेरा कुछ और
night was something else, morning was something else
सब कुछ लुट के ले गया एक चोर
A thief stole everything
रात कुछ और थी सबेरा कुछ और
night was something else, morning was something else
सब कुछ लुट के ले गया एक चोर
A thief stole everything
हाय रामा क्यों मैंने उठने में देर की
hi rama why am i late to get up
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
Tur Gaya Mahi Gaddi Lek Sabeer Di
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
Tur Gaya Mahi Gaddi Lek Sabeer Di
रात कुछ और थी सबेरा कुछ और
night was something else, morning was something else
सब कुछ लुट के ले गया एक चोर
A thief stole everything
हाय रामा क्यों
hi rama why
हाय रामा क्यों मैंने उठने में देर की
hi rama why am i late to get up
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
Tur Gaya Mahi Gaddi Lek Sabeer Di
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
Tur Gaya Mahi Gaddi Lek Sabeer Di
उसको समझी थी मैं साधु
He thought I was a monk
साधु कर गया काला जादू
sadhu did black magic
उसको समझी थी मैं साधु
He thought I was a monk
साधु कर गया काला जादू
sadhu did black magic
जादू सर पे छड्के बोलै
magic sir pe chhadke bolai
हाय हाय मन मेरा ये डोला
hi hi man my ye dola
जादू सर पे छड्के बोलै
magic sir pe chhadke bolai
हाय हाय मन मेरा ये डोला
hi hi man my ye dola
रात चांदनी थी मुझे चढ़ गया जोर
The night was moonlit, I got stressed
रात चांदनी थी मुझे चढ़ गया जोर
The night was moonlit, I got stressed
हुआ जो सबेरा मेरे उड़ गए होश
Whatever happened in the morning my senses flew away
हाय रामा क्यों मैंने उठने में देर की
hi rama why am i late to get up
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
Tur Gaya Mahi Gaddi Lek Sabeer Di
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
Tur Gaya Mahi Gaddi Lek Sabeer Di
उसने नज़रो से कुछ बोला
he said something out of sight
मेरे दिल में उठे शोले
Sholay rose in my heart
उसने नज़रो से कुछ बोला
he said something out of sight
मेरे दिल में उठे शोले
Sholay rose in my heart
ऐसी आग लगी फिर मीठी
such a fire then sweet
जैसे सुलगि हो अँगीठी
like smoldering fire
ऐसी आग लगी फिर मीठी
such a fire then sweet
जैसे सुलगि हो अँगीठी
like smoldering fire
राति मैनु कहंदा सी
Rati Mainu Kahanda Si
तू लगदी ऑय हूर
Tu Lagdi I Hoor
राति मैनु कहंदा सी
Rati Mainu Kahanda Si
तू लगदी ऑय हूर
Tu Lagdi I Hoor
हुआ जो सबेरा मेरा तूट गुरुर
Whatever happened every morning
हाय रामा क्यों मैंने उठने में देर की
hi rama why am i late to get up
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
Tur Gaya Mahi Gaddi Lek Sabeer Di
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
Tur Gaya Mahi Gaddi Lek Sabeer Di
रात कुछ और थी सबेरा कुछ और
night was something else, morning was something else
सब कुछ लुट के ले गया एक चोर
A thief stole everything
हाय रामा क्यों
hi rama why
हाय रामा क्यों मैंने उठने में देर की
hi rama why am i late to get up
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
Tur Gaya Mahi Gaddi Lek Sabeer Di
तुर गया महि गद्दी लेके सबीर दी
Tur Gaya Mahi Gaddi Lek Sabeer Di

Leave a Comment